बंगाल: योगी और शाह का ‘मिशन 23’, से ममता बनर्जी बेचैन नजर आ रही है ?

आजादी के बाद से या यु कहे तो जब से भारतीय जनता पार्टी की स्थापना हुई है तब से लेकर अभी तक के हुए सभी लोकसभा चुनाव को अगर देख लिया जाये तो ऐसा कभी नही हुआ कि पश्चिम बंगाल पर भारतीय जनता पार्टी का ध्यान गया हो इसका कारन यह रहा है कि बंगाल में कमुनिस्ट का गढ़ रहा है और उसके बाद TMC अपना बर्चस्व कायम करने में कामयाब रही है. पिछले कुछ महीनो में हुए राजनैतिक उठा पटक पर नजर डाले तो पता चलता है.

बीजेपी ने वरिष्ठ नेता इस बात को समझ रहे है कि बंगाल में अच्छी सीट जीत सकते है, जिसका चिंता साफ ममता बनर्जी के चेहरे पर या उनके तौर तरीको पर भी देखा जा सकता है. वो आजकल लेफ्ट पार्टी या उनके नेताओ पर निशाना नहीं साधती है बल्कि चर्चा का विषय बीजेपी और बीजेपी के नेता हो गए है इसी बिच बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह ने ऐलान किया है की 42 लोकसभा सीटो वाली पश्चिम बंगाल में बीजेपी को इसबार कम से कम 23 सीटे लानी है और इसके लिए सरे बड़े नेता पश्चिम बंगाल में दौरा कर रहे है.

गत बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक पोस्ट पर फेसबुक में लिखा, ‘भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई ने तृणमूल समेत कई लोगों के पंख काट दिए हैं, इसलिए वे सब (सभी विपक्षी नेता ) कोलकाता में जमा होकर मुझे गालियां दे रहे हैं। वे सब अपने भ्रष्टाचार को छिपाने और अपने परिवारवालों को बचाने के लिए एक साथ आए हैं। मैं तब तक शांत नहीं बैठूंगा, जब तक सारे भ्रष्टाचारियों को सजा नहीं मिल जाती।’.

आपको यह बता दे कि बीजेपी के प्रचार लिस्ट में पश्चिम बंगाल इसबार टॉप पर है.

Loading...

You may also like...